Divorce (तलाक)

हिन्दू विवाह अधिनियम की धारा-13 के विवाह-विच्छेद (Divorce) को बताता है। हिन्दू विवाह मे तलाक (Divorce) किस तरह से तलाक लिया जा सकता है आइये जानते है ?हिन्दू विवाह अधिनियम के अन्तर्गत विवाह-विच्छेद की प्रकिया दो प्रकार से होती है – पहला आपसी सहमति से विवाह-विच्छेद, यह तलाक पति एवंम् पत्नी दोनो के लिये ठीक … Read more

Prohibited Marriage (निषिद्ध विवाह)

शून्य विवाह (Void marriages)- एक शून्य विवाह एक विवाह है जो उस क्षेत्राधिकार के कानूनों के तहत गैरकानूनी या अमान्य है जहां इसे दर्ज किया गया है। एक शून्य विवाह वह है जो शुरू से ही शून्य और अमान्य है। यह ऐसा है जैसे कि विवाह कभी भी अस्तित्व में नहीं था और इसे समाप्त … Read more

Hindu Marriage Act (हिन्दू विवाह अधिनियम 1955)

हिन्दू विवाह अधिनियम (HMA) 1955 कुल 30 धाराये है, जिन्हे 5 अध्यायों या चरणो मे बांटा गया है । प्रस्तावना (Preliminary)  संक्षिप्त नाम और विस्तार (Short title and extent) Section-1 अधिनियम का लागू (Application of Act) Section-2 परिभाषाये (Definitions) Section-3 अधिनियम का सर्वोपरि प्रभाव (Overriding effect of Act) Section-4 हिन्दू विवाह (Hindu Marriages) हिन्दू विवाह … Read more