आईपीसी की धारा 502 | मानहानिकारक विषय रखने वाले मुद्रित या उत्कीर्ण पदार्थ को बेचना | IPC Section- 502 in hindi | Sale of printed or engraved substance containning defamatory matter.

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका अपने ब्लॉग Mylegallaw.com में, आज हम आपको आईपीसी की रोचक धारा के बारे में बताएंगे। जो कोई किसी मुद्रित या उत्कीर्ण पदार्थ को, जिसमे मानहानिकारक सम्मलित है एवम यह जानते हुए भी बेचेगा, या बेचने का प्रयास करेगा तो वह व्यक्ति भारतीय दण्ड संहिता की धारा 502 के अंतर्गत दंडनीय … Read more

आईपीसी की धारा 501 | मानहानिकारक जानी हुई बात को मुद्रित या उत्कीर्ण करना | IPC Section- 501 in hindi | Printing or engraving matter known to be defamatory.

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका अपने ब्लॉग Mylegallaw.com में, आज हम आपको आईपीसी की रोचक धारा के बारे में बताएंगे। जो कोई किसी बात को यह जानते हुए या विश्वास करने का अच्छा कारण रखते हुए कि ऐसी बात किसी व्यक्ति के लिए मानहानिकारक है, मुद्रित(प्रिंट) करेगा, या उत्कीर्ण(लिखा हुआ) करेगा, तो वह भारतीय दण्ड … Read more

आईपीसी की धारा 498 | विवाहिता स्त्री को आपराधिक आशय से फुसलाकर ले जाना या निरुद्ध रखना | IPC Section- 498 in hindi | Enticing or taking away or detaining with criminal intent a married woman.

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका अपने ब्लॉग Mylegallaw.com में, आज हम आपको आईपीसी की रोचक धारा के बारे में बताएंगे। यदि कोई ऐसे व्यक्ति के साथ, जो कि किसी अन्य पुरुष की पत्नी है और वह जानता है या विश्वास रखने का कारण जानता है, उस पुरुष के पास से, जो उस पुरुष की ओर … Read more

आईपीसी की धारा 497 | जारकर्म | IPC Section- 497 in hindi | Adultery.

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका अपने ब्लॉग Mylegallaw.com में, आज हम आपको आईपीसी की रोचक धारा के बारे में बताएंगे। यदि कोई, ऐसे व्यक्ति के साथ जो कि किसी अन्य पुरुष की पत्नी है और वह जानता है या विश्वास रखने का कारण जानता है, उस पुरुष की सम्मति या मौनानुकूलता के बिना यौनसंबंध बनाता … Read more

आईपीसी की धारा 496 | विधिपूर्ण विवाह के बिना कपटपूर्वक विवाह कर्म पूरा कर लेना | IPC Section- 496 in hindi | Marriage ceremony fraudulently gone through without lawful marriage.

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका अपने ब्लॉग Mylegallaw.com में, आज हम आपको आईपीसी की रोचक धारा के बारे में बताएंगे। यदि कोई विवाह करने के किसी के साथ कपटपूर्वक या छल से विवाह विधि पूर्ण कराता है, तो वह व्यक्ति भारतीय दण्ड संहिता की धारा 496 के अंतर्गत दंडनीय होगा, आइए जानते है, क्या कहती … Read more

आईपीसी की धारा 495 | वही अपराध पूर्ववर्ती विवाह को उस वक्त से छिपाकर जिसके साथ पश्चातवर्ती विवाह किया जाता है | IPC Section- 495 in hindi | same offence with concealment of former marriage from person with whom subsequent marriage in contracted.

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका अपने ब्लॉग Mylegallaw.com में, आज हम आपको आईपीसी की रोचक धारा के बारे में बताएंगे। यदि कोई पुनः विवाह पति अथवा पत्नी को छिपाकर करता है, तो वह व्यक्ति भारतीय दण्ड संहिता की धारा 495 के अंतर्गत दंडनीय होगा, आइए जानते है, क्या कहती है ? धारा 495 साथ ही … Read more