नई मुश्किल? घर खरीदना हुआ और महंगा? मेंटेनेस डिपॉजिट पर लगेगा जीएसटी?

आज हम बात करने जा रहे हैं GST on Maintenance Diposit की जी हां ये फैसला गुजरात अथॉरिटी ऑफ एडवांस रूलिंग (The Gujarat bench of authority for advance rulings) ने लिया है।

आज हमारा देश पहले से ही अर्थव्यवस्था से लड़ रहा है, जिसके चलते गुजरात सरकार द्वारा जनता पर एक और संकट में डाल दिया। अगर आप कोई फ्लैट खरीदने (Buying Flat) जा रहे है, तो ये खबर जरा ध्यान से पढ़ लीजिए क्यूकी अब आपको मेंटिनेंस चार्जेस पर अब आपको 18 परसेंट देना होगा। आम जनता पहले से ही टूट चुकी है, जिसके चलते गुजरात अथॉरिटी ऑफ एडवांस रूलिंग द्वारा फ्लैट जैसे घर खरीदना होगा और भी मुश्किल हालाकि जो भी व्यक्ति फ्लैट खरीदेगा, उसे वन टाइम मेंटेनेंस डिपॉजिट (one-time maintenance deposit) पर 18 परसेंट GST चुकाना पड़ेगा।

जब आप कोई घर या फ्लैट खरीदने के लिए जाते हैं तो कई तरह के चार्ज देते हैं, उनमे से एक चार्ज होता है ‘वन टाइम मेनटेनेंस डिपॉजिट’ आमतौर पर इस वन टाइम मेनटेनेंस डिपॉजिट पर किसी तरह का कोई टैक्स नहीं लगता है, यानी अगर आप कोई फ्लैट खरीद रहे हैं और वन टाइम मेनटेनेंस डिपॉजिट बिल्डर को दे रहे हैं, मतलब ये डिपॉजिट का पैसा बिल्डर के अकाउंट में जा रहा है तो बिल्डर आपसे 18 परसेंट GST वसूलेगा।

सबसे बड़ी खुशी की बात यह है, यदि आप सोसायटी के एकाउंट से वन टाइम मेंटिनेंस चार्जेस डिपॉजिट कर रहे हैं और सोसायटी ही फ्लैट्स की देखरेख और प्रत्येक कार्य देखती है, तो आपको जीएसटी नही देना पड़ेगा, अर्थात् यदि हम किसी सोसायटी से फ्लैट खरीदेंगे, तो वह बड़ा फायदा करेगी । गुजरात अथॉरिटी ऑफ एडवांस रूलिंग ने हालाकि फैसला सुनाते समय कहा है कि अगर बिल्डर अगर building की देख रेख करेगा, तो ही 18 परसेंट GST Tax चुकाना पड़ेगा।

इसका फैसला गुजरात स्थित Capital Commercial Coop Service Society ने अथॉरिटी से एडवांस रूलिंग की मांग की थी, गुजरात अथॉरिटी ऑफ एडवांस रूलिंग के सामने सोसायटी ने कहा कि लोगों से लिया गया मेनटेनेंस डिपॉजिट उन्हें Refund कर दिया जाता है जब वो छोड़कर जाते हैं. GST कानून के मुताबिक डिपॉजिट रीफंड किया गया है तो ये Consideration में नहीं आया, इसलिए इस पर GST नहीं लगना चाहिए, लेकिन अथॉरिटी ने सोसायटी के इस तर्क को नहीं माना।

गुजरात अथॉरिटी ऑफ एडवांस रूलिंग के फैसले को कई विशेषज्ञों ने कहा कि जीएसटी कानून में कहा गया है कि GST Consideration पर लागू होता, अर्थात किसी वस्तु को खरीदने बेचते है, तो ही मूल पर जीएसटी लगेगा, लेकिन यहां तो डिपॉजिट दे रहे है, तो इस पर जीएसटी नही लागू होना चाहिए । जीएसटी कानून के मुताबिक refundabe या Non refundable, Deposit है तो जीएसटी टैक्स नहीं लगना चाहिए। मतलब अगर यह ये डिपॉजिट की तरह चुकाना होगा, तो ये Consideration नही है, तो GST भी नहीं लग सकता है, आपत्ति जताई, लेकिन उनके इस कथन को नही माना।

अभी तक कोई भी व्यक्ति फ्लैट खरीदता है तो कई तरह के चार्ज जैसे क्लब चार्ज, पार्किंग चार्ज वगैरह चुकाता है, इसके साथ ही वन टाइम मेनटेनेंस डिपॉजिट भी देते हैं. सोसायटी इस डिपॉजिट को अपने कॉर्पस में रखती है, तो सवाल ये है कि ये इस डिपॉजिट पर GST लगना चाहिए कि नहीं, लेकिन जो अथॉरिटी का फैसला आया है, क्योंकि ये नॉन रिफंडबल है इसलिए इसे Consideration की तरह देखा जाएगा, इसलिए इस पर 18 परसेंट जीएसटी लगेगा।

Leave a Reply