पॉक्सो एक्ट की धारा 1 | संक्षिप्त नाम, विस्तार और प्रारम्भ | Pocso Act Section- 1 in hindi | Short title, extend and commencement.

नमस्कार दोस्तों, आज हम पॉक्सो एक्ट 2012 को शुरुआत से समझेंगे। वैसे शुरुआत करने से पहले जान लेते है इसे कब लागू किया गया और क्यों? यह कानून लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम (POCSO ACT) 19 जून 2012 को राष्ट्रपति की स्वीकृति के पश्चात् लागू किया गया। इसके बाद हम आपके लिए पोक्सो एक्ट की धारा 1 के बारे को पूर्ण जानकारी, क्या कहती है पोक्सो एक्ट की धारा 1? साथ ही हम आपको POCSO ACT की धारा 1 के अंतर्गत क्या परिभाषित करती है, इस लेख के माध्यम से आप तक पहुंचाने का प्रयास करेंगे।

हमारे भारत में तेजी से बढ़ रहे बाल लैंगिक अपराध व बाल लैंगिक उत्पीड़न से संरक्षण करने और अपराधों का विचरण करने के लिए विशेष न्यायालयों की स्थापना की गई, जिससे हो रहे बालकों के प्रति अन्याय को जल्द से जल्द रोका जा सके।

POCSO ACT की धारा 1 का विवरण

पॉक्सो एक्ट(POCSO) में धारा 1 के विषय में पूर्ण जानकारी देंगे। पॉक्सो (POCSO) की धारा 01 संक्षिप्त नाम और इसका कहा कहा विस्तार और प्रारम्भ होगा यह परिभाषित करती है।

पॉक्सो एक्ट (POCSO Act) की धारा 1 के अनुसार-

संक्षिप्त नाम, विस्तार और प्रारम्भ

(1) इस अधिनियम का संक्षिप्त नाम लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम, 2012 है।
(2) इसका विस्तार जम्मू-कश्मीर राज्य के सिवाय संपूर्ण भारत पर है।
(3) यह उस तारीख को प्रवृत्त होगा जो केन्द्रीय सरकार, राजपत्र में अधिसूचना द्वारा, नियत करे।

“Short title extent and commencement”–
(1) This Act may be called the Protection of Children from Sexual Offences Act, 2012.
(2) It extends to the whole of India, except the State of Jammu and Kashmir.
(3) It shall come into force on such date as the Central Government may, by notification in the Official Gazette, appoint.

हमारा प्रयास पॉक्सो एक्ट (POCSO Act) की धारा 1 की पूर्ण जानकारी, आप तक प्रदान करने का है, उम्मीद है कि उपरोक्त लेख से आपको संतुष्ट जानकारी प्राप्त हुई होगी, फिर भी अगर आपके मन में कोई सवाल हो, तो आप बेझिझक कॉमेंट बॉक्स में कॉमेंट करके पूछ सकते है।
धन्यवाद

Leave a Comment