RFID क्या है पूर्ण जानकारी ले ? जी0एस0टी मे RFID टैग को क्यों बढावा दिया जा रहा है और कहा से मिलेगा ?

RFID क्या है ?

RFID का Full Name अंग्रेजी में (Radio Frequency Identification) और में पूरा नाम हिंदी रेडियो आवृति है। इसका मुख्य कार्य ट्रेकिंग करना होता है। इसलिए हम इसे आम भाषा में ट्रैकिंग डिवाइस भी बोल सकते है ।
यह डिवाइस एक तरह से Electro magnatic की बनी हुई data Trasreader के लिए स्वचालित रूप से पहचाने एवम् track करने के लिए डिवाइस है । एक तरह से ATM के पीछे वाली पट्टी, जो सिल्वर रंग की है, उस तरह से इस डिवाइस में स्कैनिंग पट्टी होती है । RFID डिवाइस में एक तरफ से Radio Reciver और दूसरी तरफ से Radio Sender का डिवाइस लगा होता है । जो डाटा एक दूसरे signal को ट्रांसफर करता रहता है ।
RFID क्या है पूर्ण जानकारी ले ? जी0एस0टी मे RFID टैग को क्यों बढावा दिया जा रहा है और कहा से मिलेगा ?
यह रेडियो चलित Signal है, जो radio Reciver को अपना डाटा trasfer करता है अगर इस डिवाइस के Electro Magnetic वाले भाग को स्कैन करेगा, इसकी स्कैन क्षमता बहुत ही तीव्र है । Electro Magnatic होने के कारण कुछ सेकैंडो में ही स्कैन कर सकता है ।

आरएफआईडी टैग क्या है ?

RFID टैग, इसी data Sender डिवाइस को कहते है । इस डिवाइस का मुख्य कार्य किसी जरूरी सामान अथवा अब व्यवसायिक वाहनों में आवागमन की स्थिति जानने के लिए लगाए जा रहे है ।
इस टैग की सहायता से हम जरूरी सामानों अथवा वाहनों की location ट्रैक करके पता लगाया जा सकता है की यह अभी किस location पर है ।अब पूरे देश मे इनके radio frequency Singal रिसीव करने के लिए टॉवर लग रहे है ।

आरएफआईडी टैग दो प्रकार के होते हैं

Active टैग रेडियो तरंगों वा बैटरी द्वारा भी संचालित किया जाएगा, जिनकी क्षमता Passive टैग से काफी अधिक होगी। सैकड़ों मीटर तक इन्हें रीड किया जा सकेगा ।जिससे ट्रैकिंग करने में मदद मिलेगी ।
Passive टैग रेडियो तरंगों व्दारा संचालित किया जाता है। यह टैग केवल Active टैग से (बैटरी संचलित, केवल संचरित से रेडियों Singal प्राप्त करता है । साथ ही System रीडर की रिसेप्शन रेंज को (1-2000) फीट से समायोजित कर सकता है ।
इन रेडियो टैग का उपयोग Tool Plaza में Fast Tag की ही भांति RFID Tag उपयोग होगा, जिसमे एक ही बार (या 1-2 वर्ष या उससे अधिक) tag लेने पर शुल्क लगेगा, बार बार देय नही होगा, इस टैग स्कैनिंग के लिए Tool Plaza पर स्वतः कुछ छणो में स्कैन किया जा सकेगा ।
RFID frequency bands
RFID tag Freq.

जी0एस0टी मे RFID टैग को किस लिये बढावा दिया जा रहा है?

जीएसटी से व्यवसायिक वाहनो की स्थिति जानने हेतु भारत सरकार व्दारा UHF: 433 MHz (Ultra High Frequency 433) आरएफआईडी टैग का इस्तेमाल किया जायेगा । जिसकी क्षमता अधिक है । 

यह टैग सबसे पहले भारत मे उत्तर प्रदेश, सरकार व्दारा जी0एस0टी0 के ई-वे बिल मे 01 नवम्बर 2018 को अध्यादेश जारी किया गया था, जिसमे कहा गया कि वाहन के Wind Screen पर RFID टैग लगा होना जरूरी साथ ही ई-वे बिल भी मैपिंग करना होगा, RFID टैग मे। अगर नही RFID टैग नही माल के साथ मैप नही होगा तो उन वाहनो पर, पेनाल्टी लगेगी ।
आरएफआईडी टैग जी0एस0टी0 चोरी रोकने के लिये, भारत सरकार व्दारा प्रत्येक जिले मे धीरे-धीरे अनिवार्य कर दिया है । कोई व्यवसायिक वाहन RFID टैग अगर नही लगाता है तो जांच अधिकारी उस वाहन अथवा माल पाने या भेजने वाले व्यक्ति पर पेनाल्टी लगा सकता है ।
जीएसटी मे उत्तर प्रदेश सरकार व्दारा प्रत्येक ई-वे बिल मे माल की चाेरी रोकने हेतु RFID टैग मैपिगं ई-वे बिल मे उपयोग करना अनिवार्य कर दिया है, किन्तु कुछ रियायत देते हुये कहा गया कि संवेदनशील वस्तुओ पर लगना पूर्ण रूप से अनिवार्य है, उन वाहनो एवंम् वस्तु भेजने एवंम् पाने वाले व्यक्ति पर पेनाल्टी लगायी जायेगी ।

आरएफआईडी टैग कहां से मिलेगा ?

RFID टैग लेने के लिये अपनी जिले की टैक्स डिपार्टमेन्ट साइट पर जाकर पूरी जानकारी ले सकते है ।
उत्तर प्रदेश मे RFID टैग लेने के लिये उत्तर प्रदेश टैक्स डिपार्टमेन्ट की साइट पर जाकर देखा जा सकता है, उत्तर प्रदेश के लिये RFID_Tag_Distribution_List यह है, जिसमे सभी अपने-अपने जिले के अनुसार जा कर सम्पर्क कर सकते है ।

Leave a Reply